किचन में करें ये काम, धन-धान्य की कभी नहीं होगी कमी

by Vaishali

हम हमेशा अपने आसपास ऊर्जाओं से घिरे रहते हैं। कभी वह ऊर्जा पॉजिटिव होती है। तो कभी वह ऊर्जा  नेगेटिव भी होती है। वास्तु शास्त्र हमारे आस-पास और जहां हम रहते हैं, इन सभी ऊर्जाओं को संतुलित करने में मदद करता है। रसोई वह जगह है। जहां कच्चा और कच्चा भोजन पौष्टिक और स्वस्थ भोजन में बदल जाता है। जो घर के सभी सदस्यों को ऊर्जा भी  प्रदान करता है। 

किचन में कौन से भगवान की तस्वीर रखें

भोजन से प्राप्त होने वाली ऊर्जा आपको सकारात्मक और संतुष्ट महसूस कराती है। हालांकि, अगर रसोई से निकलने वाली ऊर्जा में असंतुलन हो, तो वही भोजन आप में नकारात्मक ऊर्जा पैदा कर सकता है। आपका स्वास्थ्य खराब होता है और इसका असर आपके दिन-प्रतिदिन के काम पर भी पड़ता है।  वास्तु के अनुसार किचन को कैसे रखना चाहिए?

जिस तरह से अनाज का भंडारण किया जाता है या आपके रसोई के चूल्हे को रखा जाता है, वह आपके आस-पास की ऊर्जाओं पर बहुत बड़ा प्रभाव डाल सकता है। इसलिए रसोई में मौजूद इन ऊर्जाओं को वास्तु शास्त्र के अनुसार संतुलित करना बहुत जरूरी है।

किचन के सामान को व्यवस्थित करके रखें

वास्तुशास्त्र में, प्रत्येक उपकरण, चाहे वह छोटा हो या बड़ा, का अपना स्थान होता है और इसे उसके द्वारा निर्धारित डिजाइन के अनुसार रखा जाना चाहिए। इससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा और ऊर्जा का संचार होगा। 

किचन वास्तु अप्रूव ना हो तो क्या करें?

हालांकि, ज्यादातर समय, विशेष रूप से अपार्टमेंट में रसोई या उपकरणों के लिए जगह चुनने के लिए बहुत कम विकल्प होते हैं। वे सभी कभी-कभी वास्तु आवश्यकताओं के अनुसार पूर्व-डिज़ाइन किए जाते हैं और कभी-कभी इसके बिना भी। यदि आप ऐसे घर में रह रहे हैं। जो वास्तु के अनुसार नहीं बना है, तो हमारे पास आपके लिए एक बहुत ही अनोखा उपाय है। इस उपाय को अपनाकर भी आप अपने घर की रसोई को वास्तु के अनुसार बना सकते हैं। इसके लिए बस आपको अपने किचन में कुछ परिवर्तन करने होंगे।

रसोई में दवाई ना रखें

किचन में भूल से भी कभी भी दवाई नहीं रखना चाहिए। वरना आपके घर में बीमारी बढ़ेगी। जो लोग स्वस्थ हैं। उनकी भी तबीयत बिगड़ेगी और यह संख्या बढ़ती चली जाएगी। इसलिए बीमारी से यदि बचना चाहते हैं। तो आज ही अपनी रसोई से दवाइयों को हटाइए। कारण बहुत से लोगों की आदत होती है। वह अपने दवाइयों को घर की रसोई में रखते हैं।

रसोई की साफ़ सफाई रोज़ करें

नियमित रूप से किचन की सफाई करें। फर्श को अच्छी तरह पोछें और सभी अप्रयोग चीजों को त्याग दें। कभी भी टूटे या टूटे हुए कप, बर्तन को रसोई में ना रखें। कारण इनका प्रभाव नेगेटिव होता है। यहां तक की धूपदान भी ना रखें। रसोई घर में बेकार सामग्री, जैसे पुराने अखबारों और अवांछित वस्तुओं को रखने से भी बचें।

औषधीय पौधों को रखें

किचन की खिड़की वाली जगह पर तुलसी, पुदीना, बांस या कोई जड़ी-बूटी का पौधा रखें। कांटेदार पौधों से बचें, क्योंकि ये पर्यावरण में तनाव पैदा करते हैं। किचन में जड़ीबूती वाले पौधे सकारात्मक ऊर्जा देते हैं। एक सुव्यवस्थित और साफ-सुथरी रसोई, ना केवल आसानी से खाना बनाने में मदद करती है, बल्कि एक सकारात्मक खिंचाव भी पैदा करती है। रसोई के चूल्हे के बर्नर को साफ रखें, क्योंकि इससे घर में पैसे का प्रवाह सुचारू रूप से बना होता है।

किचन में कौन से भगवान की तस्वीर रखना अच्छा होता है?

माता अन्नपूर्णा को दो स्थानों पर रखा जा सकता है, एक घर की पूजा/मंदिर में या रसोई में। रसोई के मामले में आप इसे रसोई के उत्तर पूर्व कोने में इस तरह रख सकते हैं कि इसका मुख पश्चिम दिशा की ओर हो और पूजा करने वाले का मुख पूर्व दिशा की ओर हो।

अपना भोजन पकाने के बाद, आप एक छोटी कटोरी में माता के बीज (बीज) मंत्र का जाप करते हुए माता को भोग दे सकते हैं। इसके बाद ही पके हुए भोजन का सेवन करना चाहिए। किचन में करें ये काम, धन-धान्य की कभी नहीं होगी कमी

देवी अन्नपूर्णा पोषण देती है, शिव की शक्ति है, आदि शक्ति है, सृष्टि और प्रलय का कारण है, माया से परे है, सत्य और दक्षता को प्रकट करती है, सर्वोच्च कल्याण है, सभी भय को दूर करती है, और ज्ञान देने वाली है।

  • नवरात्रि के दिनों में विशेष रूप से देवी अन्नपूर्णा की कृपा पाने के लिए इस मंत्र का जाप किया जाता है।
  • समृद्धि के लिए अन्नपूर्णा मंत्र का जाप कैसे करें
  • यह मंत्र बहुत ही प्रभावशाली और दुर्गा का सिद्ध मंत्र है।
  • इसके लिए लाल वस्त्र धारण करें।
  • अगरबत्ती और फूलों से मां दुर्गा की पूजा करें।
  • मां दुर्गा के चित्र के आगे घी का दीपक जलाएं।
  • इस मंत्र की 11 माला जाप करें।
  • जीवन में समृद्धि के लिए इस मंत्र का जाप 1 दिन तक करें।
  • छोटी लड़कियों को कुछ उपहार दें।

अन्नपूर्णा मंत्र

ॐ श्रीं अन्नपूर्णे भगवती नमः |

“ओम श्रीम अन्नपूर्णे भगवती ओम स्वाहा”

निष्कर्ष

रसोई घर का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि यह देवी अन्नपूर्णा का मंदिर है। इसलिए सौभाग्य के प्रवाह को बढ़ाने के लिए इसकी सुंदरता का ध्यान रखना बहुत जरूरी हो जाता है। किचन में करें ये काम, धन-धान्य की कभी नहीं होगी कमी

यदि आप रसोई में माता अन्नपूर्णा की तस्वीर लगा सकते हैं, तो अपने रसोई घर में फलों और सब्जियों से भरी एक सुंदर तस्वीर लगाना अच्छा है। इन तस्वीरों को किचन में लगाने से घर में कभी भी पैसों की कमी नहीं होती है। अनाज का भंडार हमेशा भरा रहता है और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

इसके अलावा अगर आपका किचन वास्तु के अनुसार दक्षिण-पूर्व या दक्षिण दिशा में नहीं बना है या फिर वास्तु से जुड़ी कोई अन्य समस्या है तो किचन के दक्षिण-पूर्व में हरे रंग का लकड़ी का कैबिनेट लगाना चाहिए।

Looks like you have blocked notifications!

Related Posts